Toyota Car Price In India

Toyota Car Price In India
Toyota Car Price In India

 

भारत में इस वक्त कुल 12 टोयोटा मॉडल्स बिक्री के लिए उपलब्ध है| इनमें 1 हैचबैक, 5 एसयूवी, 4 एमयूवी, 1 पिकअप ट्रक और 1 सेडान शामिल है इंडिया में टोयोटा की ओर से 3 नई कारों को लॉन्च किया जाएगा जिनमें टोयोटा लैंड क्रूजर 250, टोयोटा बेल्टा, टोयोटा कैमरी 2024 शामिल है।

भारत में टोयोटा कारों की कीमत ₹ 6.86 लाख से शुरू होती जो कि ग्लैंजा प्राइस है वहीं भारत में टोयोटा की सबसे महंगी कार लैंड क्रूजर 300 है जो ₹ 2.10 करोड़ रुपये में उपलब्ध है। टोयोटा के लाइनअप में सबसे लेटेस्ट मॉडल टाइजर है जिसकी कीमत ₹ 7.74 – 13.04 लाख रुपये है। भारत में टोयोटा की under 10 लाख रुपये से भी कम कीमत वाली कारों में ग्लैंजा और टाइजर शामिल हैं। टोयोटा के मौजूदा लाइनअप में कैमरी, फॉर्च्यूनर, फॉर्च्यूनर लेजेंडर, ग्लैंजा, हाइलक्स, अर्बन क्रूजर हाइराइडर, इनोवा क्रिस्टा, इनोवा हाईक्रॉस, लैंड क्रूजर 300, रुमियन, टाइजर और वेलफायर जैसी कारें शामिल है।

 

Toyota Car Price In India मॉडल एक्स-शोरूम कीमत

 

1.टोयोटा फॉर्च्यूनर Rs. 33.43 – 51.44 लाख

2.टोयोटा इनोवा क्रिस्टा Rs. 19.99 – 26.30 लाख

3.टोयोटा लैंड क्रूजर 300 Rs. 2.10 करोड़

4.टोयोटा टाइजर Rs. 7.74 – 13.04 लाख 

5.टोयोटा अर्बन क्रूजर Rs. 11.14 – 20.19 लाख

6.टोयोटा हाइलक्स Rs. 30.40 – 37.90 लाख

7.टोयोटा रुमियन Rs. 10.44 – 13.73 लाख

8.टोयोटा वेलफायर Rs. 1.20 – 1.30 करोड़

9.टोयोटा कैमरी Rs. 46.17 लाख

10.टोयोटा फॉर्च्यूनर लेजेंडर Rs. 43.66 – 47.64 लाख

11.टोयोटा ग्लैंजा Rs. 6.86 – 10 लाख

12.टोयोटा इनोवा हाईक्रॉस Rs. 19.77 – 30.98 लाख

Toyota Car Price In India
Toyota Car Price In India

 

 

 

टोयोटा मोटर कॉर्पोरेशन को जापान में 1937 में स्थापित किया गया था औद्योगिक उथल-पुथल के बावजूद यह कंपनी जापान की सबसे कार कंपनी बन गई। भारत में इसने 1990 में टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स के नाम से अपने ऑपरेशंस शुरू किए थे। भारत में टोयोटा के दो मैन्युफक्चरिंग प्लांट्स है और दोनों ही बिदादी में स्थित है। इनमें प्रति वर्ष कुल 3.1 यूनिट्स का उत्पादन किया जा सकता है। इन मैन्युफक्चरिंग प्लांट्स में तैयार की जाने वाली कई यूनिट्स एक्सपोर्ट करने के उद्देश्य से भी तैयार की जाती है। वहीं, कंपनी के बंद हो चुके मॉडल्स प्रियस और प्राडो को भारत में इंपोर्ट करके बेचा जाता था। टोयोटा की लैंड क्रूज़र को भी इंपोर्ट करके बेचा जाता है। भारत में टोयोटा कारों को अपनी विश्वसनीयता और ड्यूरेबिलिटी के लिए जाना जाता है। कंपनी के सबसे पॉपुलर मॉडल्स में कोरोला एल्टिस सेडान,प्रीमियम एमपीवी इनोवा क्रिस्टा और प्रीमियम एसयूवी फॉर्च्यूनर शामिल है। वर्तमान में भारत में टोयोटा कारों की सेल्स और सर्विस के लिए करीब 300 डीलरों का नेटवर्क है। हमारे partner-sponsored Glasses करें, ऑनलाइन खरीदने के लिए उपलब्ध हर स्वाद और बजट के अनुरूप विभिन्न विकल्पों के साथ

 

भारत में टोयोटा की सबसे किफ़ायती कार ग्लैंजा है, जिसकी क़ीमत Rs. 6.86 लाख है भारत में सबसे महंगी टोयोटा कार लैंड क्रूज़र है,जिसकी प्राइस Rs. 2.10 करोड़ है। टोयोटा द्वारा लॉन्च की गई नवीनतम कार अर्बन क्रूज़र टाइज़र 03 Apr 2024 को है। भारत में सबसे लोकप्रिय टोयोटा कार्स अर्बन क्रूज़र टाइज़र (Rs. 7.74लाख),इनोवा क्रिस्टा (Rs. 19.99 लाख) और इनोवा हायक्रॉस (Rs. 19.77 लाख) हैं। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स ने आज भारतीय बाजार में अपनी सबसे किफायती 7-सीटर कार के तौर पर बिक्री के लिए लॉन्च कर दिया है। मूल रूप से ये कार मारुति सुजुकी की मशहूर एमपीवी पर बेस्ड है,जिसमें टोयोटा ने कुछ कॉस्मेटिक बदलाव किए है। इस कार को कुल 3 वेरिएंट्स और 6 ट्रिम्स में पेश किया गया है,जिसमें CNG का भी ऑप्शन उपलब्ध है।

 

जापान में एक बार भूकंप आया और उस समय कारों के जरिए लोगों की जान बचाई गई। उस समय वहां के लोगों का ध्यान कारों की ओर बढ़ा। इसी के बाद टोयोटा की शुरुआत हुई। जापान की कार बनाने वाली कंपनी टोयोटा एक बार फिर से दुनिया में सबसे ज्यादा कार बेचने वाली बन गई हैै। साल 2020 में टोयोटा ने 95.28 लाख कारें बेची है। हालांकि,बीते साल कंपनी की कुल सेल्स में 11.3 फीसदी की गिरावट आई है। दूसरे नंबर पर जर्मनी की रही। कंपनी ने कुल 93.05 लाख कारें बेची। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि 5 साल के बाद टोयोटा ने फिर से नंबर-1 का तमगा हासिल किया है। लेखक प्रदीप ठाकुर की किताब टोयोटा सक्सेस स्टोरी में बताया गया है कि 1 सितंबर 1923 को जापान में बड़ा भूकंप आया था. कहा जाता है कि उस समय इस घटना की वजह से जापान के लोगों की सोच बदल गई थी।दरअसल भूकंप में काफी तबाही हुई। उस समय लोगों की जान बचाने के लिए कारों का इस्तेमाल किया गया। तब वहां के लोगों का रुझान कारों की बढ़ा और उसकी जरुरत महसूस होने लगी। इसी के बाद जापान में कार इंडस्ट्री की रफ्तार तेज हुई। टोयोटा के संस्थापक किइचिरो ने सन 1933 में सबसे पहले ऑटोमेटिक हथकरघा बनाया। लेकिन उनकी बचपन से तमन्ना कार बनाने की थी। इसीलिए उनका प्रोटोटाइप मॉडल AA 1932 बनाया. लेकिन किइचिरो ने शुरुआत में कारों को एसेंबल किया। इसके बाद उन्होंने 1936 में कंपनी की नींव रखी। जिसका नाम टोयोटा मोटर रखा। 1951 में टोयोटा ने पहली बार विश्व प्रसिद्ध लैंड क्रूजर मॉडल पेश किया था। तब तक वे प्रति माह लगभग 500 कारों का उत्पादन करने के लिए वापस आ गए थे। टोयोटा का ध्यान क्वालिटी पर ज्यादा रहता था। वाहनों की और उत्पादन की लागत जितनी कम हो सके रखने के लिए महत्व दिया। धीरे-धीरे टोयोटा एक पहचान ब्रांड बन रहा था और इसका उत्पादन हर साल बढ़ रहा था।

 

साल 1963 में कंपनी ने अपना विस्तार शुरू किया। तब पहली बार कंपनी ने 10 लाख कारों का एक्सपोर्ट किया। 1991 तक, टोयोटा ने अमेरिकी बाजार में एक लाख से अधिक कारों और ट्रकों को बेच दिया था। यह जापानी कार उद्योग के 40% से अधिक का भी आयोजन करता है। जल्द ही टोयोटा नए बाजारों में खुद को स्थापित करना लगे लैटिन अमेरिका और दक्षिण पूर्व एशिया जैसे देशों में शुरू किया। शुरुआत में टोयोटा एक किफ़ायती कारों के लिए पहचाने जाने लगा। लेकिन लक्ज़री कार का ब्रांड लेक्सस का भी निर्माण कर दिया। टोयोटा ने सन 2000 में कई कंपनियों के साथ करार किया और ग्रोथ को कई गुना बढ़ा दिया। सन 2017 में कंपनी ने रोबोट और आर्टिफिशल इंटेंलिजेंसी के जरिए कार बनाने का काम शुरू किया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *